Bihar Politics बिहार के पूर्व सीएम व हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने बुधवार को प्रेसवार्ता किए जिसमें उन्होंने बताया कि हम पार्टी गरीब संपर्क यात्रा 12 फरवरी से शुरू करने वाली है। इसकी शुरुआत नवादा से की जाएगी। यात्रा के दौरान अधिकारियों की गलतियों को उजागर किया जाएगा।

बिहार में यात्रा का क्या है भूमिका  उधर समाधान यात्रा को लेकर नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव पूरे बिहार को भ्रमण कर रहे हैं तो कभी नीतीश का रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर भी जनसुराज अभियान को लेकर पूरे बिहार का भ्रमण करने निकले है उनका पूरा यात्रा कहीं ना कहीं बिहार भ्रमण का रहने वाला है और वो भी 1.5 साल की पूरी तैयारी के साथ।

जीतन राम मांझी नीतीश कुमार विद्यापति चंद्रवंशी और प्रशांत किशोर का यात्रा क्या बिहार में कर पायेगा बदलाव

जीतन राम मांझी 12 और 13 फरवरी को यह गरीब संपर्क यात्रा नवादा, 14 फरवरी को जहानाबाद, 16 फरवरी को अरवल, 17 और 18 फरवरी को औरंगाबाद और 20, 21, 22 फरवरी को गया में होगी। वहीं, 26 फरवरी को गया के गांधी मैदान में जनसभा होगी। जिसमे मुख्य रूप से अधिकारियों के कमी को उजागर किया जायेगा।
एक तरफ नीतीश कुमार समाधान कर रहे हैं तो दूसरे तरफ उनके ही गठबंधन के सहयोगी दल नीतीश सरकार के अधिकारियों की कमी को जनता के सामने लाने वाले हैं।

नीतीश कुमार समाधान यात्रा में अपना जमीन भी देख रहे हैं की क्या 2024 में विपक्ष की तरफ से पीएम घोषित होने की संभावना है बिहार की जनता को हमारे पीएम पद उम्मीदवार को लेकर क्या सोच है । यदि पीएम पद उम्मीदवार नहीं बनते है नीतीश कुमार तो 2025 में उनका बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति दूसरा ही होने की संभावना बताई जा रही है।
विद्यापति चंद्रवंशी आम जनता पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष की यात्रा की मुख्य बाते:
वहीं आम जनता पार्टी राष्ट्रीय के राष्ट्रीय अध्यक्ष विद्यापति चंद्रवंशी ने निदान यात्रा कर्पूरी ग्राम से शुरु किए है। जिनके यात्रा का भी मकसद यही है की जो समस्याएं बिहार में व्याप्त है उसको दूर करना भ्रष्टाचार मुक्त बिहार बनाना जाति में बिहार के लोगो को जो बांटा गया है उसको समाप्त कर एक विकसित बिहार व समृद्ध बिहार बनाना। बिहार में रोजगार की गंगा बहाना तथा उद्योग का हब बिहार को बनाना है।

प्रशांत किशोर भी जनसुराज अभियान के तहत जागरूक कर रहे हैं बिहारवासियों को:
जनसुराज अभियान के अंतर्गत रणनीतिकार प्रशांत किशोर कर रहे हैं बिहार के लोगो को जागरूक। उनका भी मकसद है की बिहार से जातिगत राजनीति को समाप्त कर लोकतांत्रिक राजनीति का बहाल करना है। बिहार से गरीबी को दूर करना है शिक्षा की अलख जगाना है इत्यादि।

बिहार में चल रहे इतने अभियान और यात्रा क्या 2025 में बिहारवासियों को दे पायेगा जातिमुक्त राजनीति क्या सच में बिहार में बह जायेगी रोजगार की गंगा क्या बिहार शिक्षित व समृद्ध हो पायेगा ये तो समय ही बतायेगा।

किसी भी प्रकार की विज्ञापन व ख़बर के लिए संपर्क करे 7209788347