The स्टार इंडिया पटना:- – प्रदेश में पंचायत चुनाव का विगुल बज चुका है। इसमें पंचायतों में कई स्तर पर शक्ति प्रदर्शन का खेल होगा। वर्तमान जनप्रतिनिधियों की कोशिश होगी कि वे किसी भी तरह दुबारा चुनाव जीते। ऐसी स्थिति में चुनाव नियमावली में संशोधन कर ऐसा प्रावधान किया जाना चाहिए कि पुनः उम्मीदवारी की स्थिति में उनके और उनके परिजनों की चल-अचल संपतियों की विधिवत जांच हो। उक्त बातें
समता पार्टी प्रदेश महासचिव (युवा मोर्चा)
कृष्ण कुमार मंडल ने कही। ओर कहा कि यह जांच एक राज्यस्तरीय स्वतंत्र निकाय से होना चाहिए। वहीं, दूसरी स्थिति यह है कि उनके कार्यकाल में संपत्र सभी जनकल्याणकारी योजनाओं के निष्पादन एवं बजटीय प्रावधानों के समुचित उपयोग पर उनके द्वारा एक हलफनामा के साथ श्वेतपत्र जारी किया जाना चाहिए ताकि स्वतंत्र निकाय एक निश्चित अवधि में उसकी समीक्षा कर सके। इसमें सफल होने वाले वर्तमान जनप्रतिनिधियों को ही दोबारा उम्मीदवारी के योग्य माना जाना चाहिए। ऐसा होने पर बहुत से योजनाओं में हुईं भारी अनियमितओं को उजागर किया जा सकेगा। कहा कि सरकार की बहुत सी योजनाओं नल जल नली गली योजना,शौचालय योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना,मनरेगा योजना आदि ओर विभिन्न योजना शामिल हैं

पक्की सड़क योजनाओं में जमकर धांधली हुई है।